सरहद से लोटे युवको का हुआ स्वागत, सैनिको से मिलकर उनके कार्य को जाना

By: Ravikant Upadhyay   25 November, 2012

group-returned-after-meeting-army-from-borderगंजबासौदा: गंजबासौदा स्टेशन पर नागरिकों ने सरहद से बापस आए हुये युवकों का  हार मालाएँ पहनाकर ढ़ोल धमाको  के साथ  स्वागत किया।  फिंस  संस्था द्वारा शुरू किए गए इस शिविर मे देश भर से करीब 10 हजार लोग सीमा पर गए थे जिनहे अलग अलग बैस केंपों  मे 2 दिनो तक ठहराया गया था। जहां उन्होने सैनिको के दिनचर्या के बारे मे जाना। गंजबासौदा से भी 9 सदस्यीय दल 18 नवम्बर को वीकानेर स्तिथ पाकिस्तान की सीमा पर गया था। जहां उन्होने सैनिको के रोज़मर्रा के जीवन यापन के बारे मे जाना। सदस्यो ने कहा कि जवानो को देश की सुरक्षा के लिए 24 घंटे तत्पर रहना पड़ता है। सड़क नहीं होने से बालू पर चलना पड़ता है। सीमा पर रहने बालो पर कई कठोर नियम लागू होते हैं, जिनका उन्हे सख्ती से पालन करना होता है।  इस दल की अगुआई करने बाले त्रिवेश लोधी ने बताया कि देश की सीमा पर रहने बाले जवानो पर आम नागरिकों का विश्वास जगाने हेतु इस कैंप का आयोजन किया गया था। देश में इस प्रकार के आयोजन सदैव होते रहना चाहिए ताकि आम लोग देश के जवानो की जीवन शैली से रुवरू होते रहें। इस दल में  दल मे सुलजीत, रणजीत बघेल, सुरेन्द्र यादव, राजभन सिंह यादव, राजेंद्र रघुवंशी, मोहन श्रीवास, रामू बघेल, संतोष विश्वकर्मा आदि शामिल थे।

Print Friendly

    Share


Facebook Page
Power Cut
अघोषित कटौती कुल 1 घंटे किसी भी समय

Check Your PNR

Ganjbasoda Poll

क्या गंजबासौदा जिला बनेगा ?

View Results

Loading ... Loading ...
:: Advertisement ::
:: Advertisement ::
:: Cricket Live Score ::
RDestWeb