गुरुनानक जयंती पर गुरुद्वारे में हुई अरदास,गरीबो को बांटे गए कंबल

By: Ravikant Upadhyay   29 November, 2012

celebrating-gurunanak-jayanti-ganjbasoda-suresh-tanwaniगंजबासौदा: सिख पंथ के प्रथम गुरु गुरुनानक देव की ५४४ वीं जयंती बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाई गई। सिक्ख मोहल्ला स्थित गुरुद्वारा एवं सिंधी कालोनी स्थित सिंधी धर्मशाला गुरुद्वारे में दिनभर आयोजन चलते रहे। कीर्तन मण्डल द्वारा पूरे कार्तिक माह प्रभात फेरी निकाली गई। बुधवार सुबह ५ बजे सिंधी कालोनी गुरुद्वारे से प्रभात फेरी मुख्य मार्गों से होती हुई बरेठ रोड़ कालाबाग स्थित भगवान झूलेलाल जी के मंदिर पहुंची। वहां कीर्तन के पश्चात अरदास की गई। प्रभात फेरी का रास्ते में स्वागत किया गया।

पाठ का आयोजन

सुबह ८.३० बजे गुरुद्वारे में सुखमनी साहब का पाठ किया गया। जिसमें गुरु अर्जुनदेव की पवित्र वाणी का व्याख्यान बताया गया। सिक्ख मोहल्ला स्थित गुरुद्वारे में भी गुरु ग्रंथ साहिब के पाठ का आयोजन किया गया। सुरेश तनवानी ने बताया कि सिंधी समाज के गुरुद्वारे में नौतरी गुजरात से पधारे संत सन्नी महाराज के श्रीमुख से भजन कीर्तन गाए गए। जिसमें समाज के गणमान्य नागरिक शामिल हुए। कीर्तन के पश्चात भोग साहब लगाकर आरती अरदास कर गुरुग्रंथ साहिब में से वाचन किया गया। पूज्य सिंधी पंचायत के सभी सदस्यों ने अरदास एवं आरती में भाग लिया। इसके पश्चात लंगर का आयोजन किया गया। रात्रि में गुरुनानक देव का जन्मोत्सव केक काटकर गुरुद्वारे में मनाया गया।

कडा प्रसाद बांटा

सिक्खपुरा स्थित गुरुद्वारे में दोपहर १२ बजे अरदास गुरुग्रंथ साहिब का पाठ आयोजन किया गया। इसके पश्चात कडा प्रसादी का भोग लगाकर लंगर का आयोजन किया गया। गणेश प्रसाद अरोरा ने बताया कि गुरुद्वारे में अरदास के साथ ही धार्मिक कार्यक्रम शुरु हो गए थे। आयोजन में किशन सिंह अरोरा को ज्ञानीजी के रूप में शॉल श्रीफल से सम्मानित भी किया गया। किशन सिंह अरोरा द्वारा गुरुग्रंथ साहिब का वाचन भी किया गया।

पूजे चरण चिन्ह

प्रेम कपूर ने बताया कि ग्राम उदयपुर में गुरुनानक देव के चरण चिन्ह उस समय से है जब वह अपने काफिले के साथ आए थे। बुधवार शाम को खत्री समाज द्वारा यहां लंगर का आयोजन किया गया। जिसमें सैकड़ों लोगों ने अरदास कर प्रसादी ग्रहण की।

बेतवा पर लगा मेला

कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर पवित्र नदियों में स्नान का विशेष महत्व है। बुधवार को बेतवा रिपटा घाट पर पारंपरिक मेले का आयोजन किया गया। सुबह श्रृद्धालुओं ने पूर्णिमा पर डुबकी लगाकर पूजन अर्चन किया। दोपहर को बेतवा रिपटा घाट पर मेले का आयोजन किया गया। मेले में खासी भीड़ लगी रही। झूला, खेल तमाशे और खाने पीने की दुकानें सजाई गई थी। मेले का आयोजन देर शाम तक हुआ। जिसमें शहर सहित आसपास के ग्रामीण अंचल से आए हजारों लोगों ने बेतवा में डुबकी लगाकर मेले का लुत्फ उठाया। ग्रामीण अंचलों में भी कार्तिक पूर्णिमा पर तुलसी शालिगराम विवाह के आयोजन हुए।

गरीब महिलाओं को बांटे कंबल

नागरिक सेवा समिति के तत्वाधान में बुधवार को राजीव गांधी जनचिकित्सालय परिसर स्थित समिति कार्यालय में गुरुनानक जयंती के उपलक्ष्य में गरीब महिलाओं को कंबल वितरण किए गए। समिति के प्रवक्ता सुरेश कुमार तनवानी ने बताया कि आयोजित कार्यक्रम में गरीब एवं असहाय महिलाओं को निशुल्क ३६० कंबल एवं वस्त्र बांटे गए। इस अवसर पर नागरिक सेवा समिति अध्यक्ष कांति भाई शाह ने कहा कि गरीबों की सेवा ही प्रभु की सेवा है। कार्यक्रम में कंछेदीलाल जैन, रमेश शर्मा, हेमंतदास मंगवानी, नाटू भाई सहित अन्य सदस्य उपस्थित थे।

mr-suresh-tanvani-distributing-blanket-to-poor

Print Friendly



    Share


Facebook Page
Power Cut
अघोषित कटौती कुल null घंटे किसी भी समय

Check Your PNR

Ganjbasoda Poll

क्या गंजबासौदा जिला बनेगा ?

View Results

Loading ... Loading ...
:: Advertisement ::
:: Advertisement ::
:: Cricket Live Score ::
RDestWeb